Home / Tag Archives: Kabir Ke Dohe

Tag Archives: Kabir Ke Dohe

दुःख में सुमिरन सब करे || Dukh Me Sumiran Sab Kare

Dukh Me Sumiran Sab Kare

दुःख में सुमिरन सब करेसुख में करे न कोईजो सुख में सुमिरन करेतोह दुःख काहेको होय सुमिरन करले मेरे मनसुमिरन करले मेरे मनतेरी बीती उम्र हरी नाम बिनातेरी बीती उम्र हरी नाम बिनासुमिरन करले मेरे मनसुमिरन करले मेरे मन कूप नीर बिन धेनोः चिर बिनधरती मेह बिनाकूप नीर बिन धेनोः …

Read More »