Home / Aarti

Aarti

ॐ जय जगदीश हरे आरती || Om Jai Jagdish Hare Aarti I ANURADHA PAUDWAL I Vishnu ji ki Aarti

ॐ जय जगदीश हरे आरती Om Jai Jagdish Hare Aarti I ANURADHA PAUDWAL I Vishnu Aarti I Video SongAartiyan

ॐ जय जगदीश हरेस्वामी जय जगदीश हरेभक्त जनों के संकट, दास जनों के संकटक्षण में दूर करेॐ जय जगदीश हरेॐ जय जगदीश हरेस्वामी जय जगदीश हरेभक्त ज़नो के संकट, दास ज़नो के संकटक्षण में दूर करेॐ जय जगदीश हरेजो ध्यावे फल पावे, दुःख बिन से मन का स्वामी दुख बिन …

Read More »

हनुमान आरती हिंदी : आरती कीजै हनुमान लला की… || Hanuman ji ki Aarti

Aarti Kije Hanuman Lala Ki [Full Song] Aarti Sangrah

आरती कीजै हनुमान लला की। दुष्ट दलन रघुनाथ कला की।।  जाके बल से गिरिवर कांपे। रोग दोष जाके निकट न झांके।।  अंजनि पुत्र महाबलदायी। संतान के प्रभु सदा सहाई।  दे बीरा रघुनाथ पठाए। लंका जारी सिया सुध लाए।  लंका सो कोट समुद्र सी खाई। जात पवनसुत बार न लाई।  लंका …

Read More »

भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अम्बे || bhor bhai din chad gaya meri ambey vaishnu mata arti

Bhor Bhai Din Char Gaya Meri Ambe(narendra chanchal)

भोर भई दिन चढ़ गया मेरी अम्बे,हो रही जय जय कार मंदिर विच आरती जय माँ ।हे दरबारा वाली आरती जय माँ ।ओ पहाड़ा वाली आरती जय माँ ॥ काहे दी मैया तेरी आरती बनावा,काहे दी पावां विच बाती,मंदिर विच आरती जय माँ ।सुहे चोलेयाँ वाली आरती जय माँ ।हे …

Read More »

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवा

जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवामाता जाकी पार्वती पिता महादेवा जय गणेश जय गणेश जय गणेश देवामाता जाकी पार्वती पिता महादेवा एक दन्त दयावन्त चार भुजा धारीमाथे पर तिलक सोहे मुसे की सवारी पान चढ़े फूल चढ़े और चढ़े मेवालडुवन का भोग लगे संत करे सेवा जय गणेश जय …

Read More »

आरती: श्री रामचन्द्र जी। (Shri Ramchandra Ji )

आरती: श्री रामचन्द्र जी। (Shri Ramchandra Ji 2)

श्री राम नवमी, विजय दशमी, सुंदरकांड, रामचरितमानस कथा और अखंड रामायण के पाठ में प्रमुखता से की जाने वाली आरती। आरती कीजै रामचन्द्र जी की।हरि-हरि दुष्टदलन सीतापति जी की॥ पहली आरती पुष्पन की माला।काली नाग नाथ लाये गोपाला॥ दूसरी आरती देवकी नन्दन।भक्त उबारन कंस निकन्दन॥ तीसरी आरती त्रिभुवन मोहे।रत्‍‌न सिंहासन …

Read More »

आरती: श्री विश्वकर्मा जी (Shri Vishwakarma Ji Ki Aarti)

आरती: श्री विश्वकर्मा जी (Shri Vishwakarma Ji Ki Aarti)

जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,जय श्री विश्वकर्मा ।सकल सृष्टि के करता,रक्षक स्तुति धर्मा ॥ आदि सृष्टि मे विधि को,श्रुति उपदेश दिया ।जीव मात्र का जग मे,ज्ञान विकास किया ॥ जय श्री विश्वकर्मा प्रभु,जय श्री विश्वकर्मा । ध्यान किया जब प्रभु का,सकल सिद्धि आई ।ऋषि अंगीरा तप से,शांति नहीं पाई ॥ जय …

Read More »